कृषि भूमि कानून

मेरी पत्नी सहित पांच बहने शादी शुदा, इनके पिता जी ने पुश्तैनी जमीन की vasiyat registred इनके चाचा के लड़के नाम कर दी थी उप मंडल अधिकारी यमुनानगर हरियाणा ने भतीजे को एक्स पार्टी करते हुए इंतकाल पांचों बहनों के नाम करने के आदेश दिए जो हो गया। तीन महीने का समय निकलने के बाद भतीजे ने इस फैसले के खिलाफ कमिश्नर अंबाला हरियाणा के पास अपील कर दी जो अभी pending h । एडवोकेट कहते है हरियाणा में कृषि भूमि कानून अलग है जो लड़कियों को पैतृक कृषि भूमि में अधिकार नहीं देता । क्या ये पांचों बहनें उपरोक्त भूमि पर अधिकार रखती है। चार साल से केस पेंडिंग है अंबाला कमिश्नर के पास कोई सुनवाई नहीं हुई। कैसा अधिकार है ये जो अपनी पैतृक संपत्ति के लिए 8 साल से धक्के खा रही है