Property

मेरा नाम महेन्द्र सिंह है। मेरा घर rishikesh में हैं। हम करीब 34 साल से वहां रह रहे हैं। मेरे पापा ने 35 साल पहले जमींन् खरीद के घर बनाया था। जमींन् भी पापा के नाम पे है। मेरे पापा 4 भाई है। जिनमे से एक भाई की देहान्त् 35 साल पहले हो गया था। जिनका देहान्त् हुआ उनकी पत्नी की जिद् थी कि उन्हें भी ऋषिकेश में रहना है। और वो मेरे दादा दादी से भी लडती थी। हमारी भी उससे बात बंद हो गयी थी। तो मेरे पापा ने उन्हें ऋषिकेश वाले घर में एक साइड दे दिया रहने के लिए। उसकी भी 2 बेटी भी थी तो पापा ने उसे थोड़ी जमीन का एक हिस्सा दिया ताकि वो गाय् पाल के अपने बेटीयो को पाल् सके। कुछ समय तक ठीक चाला लेकिन वो आये दिन लड़ती रहती थी। कभी जमींन् को ले कर कभी पानी के लेकर। बाद में पापा ने अपनी साइड वाला घर तुड़वा के नया बना दिया। अब उसकी लड़कियों की भी शादी हो गयी है। लेकिन उसकी लड़किया भी ससुराल में ना रह कर वही घर में अपने पति के साथ रह रही है। अब वो अपने वाले हिस्से को तोड़ कर घर बनवा रही है। इसके लिये उसके बेटी के पति उसका साथ दे रहे हैं। अभी भी पूरी जमींन् पापा के नाम पे है। मैं बिलकुल नहीं चाहता कि वो वहां रहे। वो लोग आये दिन लडते रहते है सब से। सर क्या मैं कोई केस कर सकता हुँ उनके खिलाफ। मुझे वो लोग बिलकुल भी पसंद नहीं है।